• निफ्टी आज 81.85 अंक बढ़कर 17,803.35 पर पहुंचा
  • सेंसेक्स आज 253.99 अंक बढ़कर 60,549.39 पर पहुंचा
  • यमुनानगर के महावीर चौक स्थित पीएनबी बाहर भगवानगढ़ के किसानों ने लगाया टेंट, खाते से काटे रूपये वापस नहीं करने तक बैंक पर लगाएंगे ताला
  • यमुनानगर में कई जगहों पर सरकारी डिपोमे आटा बांटने वाली मशीन का नेटवर्क दे रहा धोखा, लोगों को हो रही परेशानी
  • यमुनानगर के मंडेबरी में तीन विवाह के बाद महिला ने बिना तलाक दिए रचाई चौथी शादी, थाने में मामला दर्ज
  • तुर्की-सीरिया में मरने वालों तादात 8 हजार के हुई पार, 3 माह के बाद लगी एमरजेंसी
  • UP में सभी IAS, IPS, PCS अफसरों की छुट्टियाँ रद्द
  • शहबाज ने पाकिस्तानी अवाम पर फोड़ा 180 अरब का टैक्स बम
  • राहुल गांधी और लोकसभा अध्यक्ष बिरला के बीच सदन में हुई बहस और वो भी माइक बंद करने को लेकर

Jag Khabar

Khabar Har Pal Kee

सैन्य-अभ्यास

रूस में सैन्य अभ्यास (Military Exercises) में हिस्सा लेंगे भारतीय और चीनी सैनिक

Indian and Chinese Soldiers Will Take Part in Military Exercises in Russia

चीन का कहना है कि उसके सैनिक रूस में इस महीने के अंत में होने वाले वोस्तोक-2022 सैन्य अभ्यास (Military Exercises) में हिस्सा लेंगे, यह एक ऐसा अभ्यास है, जिसमें भारतीय सेना (Indian Army) भी भाग लेगी। इस अभ्यास में भारत के साथ-साथ बेलारूस, ताजिकिस्तान, मंगोलिया और अन्य देश भी अभ्यास में भाग लेंगे।

रूस में वोस्तोक-2022 (Vostok-2022) सैन्य अभ्यास में भारतीय सैनिकों की भागीदारी पर नई दिल्ली में भारतीय सेना या रक्षा मंत्रालय (Ministry of Defence) की ओर से तत्काल कोई टिप्पणी नहीं की गई है।

चीनी रक्षा मंत्रालय ने कहा कि चीनी और रूसी सेनाओं के बीच वार्षिक सहयोग योजना और दोनों पक्षों की सहमति के अनुसार, चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) निकट भविष्य में सैन्य अभ्यास में भाग लेने के लिए कुछ सैनिकों को रूस भेजेगी।

चीन और भारत अगले ही महीने आयोजित होने वाले मल्टी-कंट्री ड्रिल (Multi-Country Drill) में भाग लेंगें और कई सप्ताह तक चलने वाले इस सैन्य अभ्यास में दोनों देशों के सैनिक एक समय में एक साथ अभ्यास करने वाले है और इन दिनों भारत के पूर्वी लद्दाख में सैन्य तनाव चल रहा है था महीनों से यूक्रेन में भी युद्ध चल रहे हैं।

यह सैन्य अभ्यास रूस द्वारा आयोजित किया जाएगा और यह अभ्यास 30 अगस्त से 5 सितंबर तक आयोजित किये जाएंगे। चूँकि वर्तमान में रूस-यूक्रेन चल रहा है, तो इस अभ्यास पर पूरी दुनिया की नजर रहेगी। इस युद्धाभ्यास के दौरान पूर्वी सैन्य जिले के 13 फायरिंग रेंज में होने वाले अभ्यास में सैनिक शामिल होने की आशंका जताई जा रही है।

.