• आज निफ्टी 123.20 अंक बढ़कर 17,822.00 पर पहुँचा
  • आज सैंसेक्स 418.73 अंक बढ़कर 59,881.51 पर पहुँचा
  • बिहार में नीतीश कैबिनेट का विस्तार, दिल्ली में अचानक हुई बीजेपी कोर कमेटी की बैठक
  • रिट्रीट देखने पहुंचे 50 हजार श्रद्धालु, 'हिंदुस्तान जिंदाबाद' और वंदे मातरम के नारों से गूंजी सीमा

Jag Khabar

Khabar Har Pal Kee

राजस्थान

राजस्थान के प्रमुख दर्शनीय और ऐतिहासिक स्थल

Major Scenic and Historical Places of Rajasthan

राजस्थान भारत के उत्तर पश्चिम में स्थित एक खुबसूरत राज्य है। राजस्थान को पहले के समय में राजपुताना के नाम से पुकारा जाता था, जिसे बाद में बदलकर राजस्थान रख दिया गया। प्राकृतिक सुंदरता और महान इतिहास से संपन्न राजस्थान बहुत ही प्रसिद्ध है। राजस्थान राज्य भारत के गोल्डन ट्रायंगल (Golden Triangle) का भी हिस्सा है। यह राज्य भारतीय और विदेशी सैलानियों के लिए सबसे पसंदीदा जगहों में से एक हैं।

राजस्थान में अनेकों सुंदर व आकर्षक पर्यटन स्थल है, जिनके बारे में नीचे बताया गया है।

अजमेर (Ajmer)

अजमेर राजस्थान का वो शहर है, जहाँ हिन्दू और मुस्लिम दोनों के लिए एक तीर्थ स्थल है। इस शहर में हिन्दुओ के लिए संस्कृति व शिल्प कौशल धार्मिक स्थान है और मुस्लिमों के लिए ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह है। अजमेर शहर अपनी पवित्रता और धार्मिक सौंदर्य के लिए पुरे भारत में प्रसिद्ध है। इसकी पवित्रता के कारण इसे भारत का मक्का मदिना भी कहते है। अजमेर राजस्थान के बीचो-बीच होने के कारण इसे ‘राजस्थान का दिल’ भी कहते है। इस शहर की स्थापना महाराजा पृथ्वीराज चौहान के पुत्र अजयराज चौहान ने सन् 1133 ईस्वी में की थी। अजमेर में अंग्रेजों के द्वारा बनाया गया मेयो कॉलेज विश्वविख्यात है। यहां अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर विदेशी छात्र भी पढ़ने के लिए आते हैं।

उदयपुर (Udaipur)

राजस्थान में झीलों की नगरी उदयपुर अरावली की पहाड़ियों से घिरा हुआ एक खूबसूरत शहर है। यहां की हवेलियों और महलों की सुंदरता को देखने के दुनिया भर के पर्यटक यहाँ आने को उत्सुक रहते हैं। यह नीली झीलों, अरावली की पहाड़ियों और हरे भरे जंगलों से घिरा हुआ, उदयपुर शहर एक आकर्षक पर्यटन स्थल है। यह शहर सीप में मोती की तरह नज़र आने वाला पिछोला झील के बीच स्थित है। और उदयपुर में शानदार बाग-बगीचे, हवेलियां, झीलें, संगमरमर के महल आदि इस शहर की शान को बढ़ा देते हैं और जब भी आप उदयपुर में जाए, तो आप पिछोला झील, सिटी पैलेस, जग मंदिर, ताज लेक पैलेस, बागोर की हवेली, मोती मगरी, सज्जनगढ़ पैलेस जरूर देखे, ये आपकी यात्रा की यादगार बन सकते है।

चित्तौड़गढ़ (Chittorgarh)

चित्तौड़गढ़ अपने त्याग, बहादुरी और वीरता के लिए प्रसिद्ध शहर है। इस शहर की हर इमारत आज भी अपने त्याग और वीरता की कहानी को दर्शाती है। चित्तौड़गढ़ शहर खंडहरों, गढ़ों, किलों और सदाबहार कहानियों से भरा हुआ है। अलाउद्दीन खिलजी की घेराबंदी भी इसी शहर में की गयी थी और यहां की कई लड़ाइयों के लिए चित्तौड़गढ़ को आज भी इतिहास के पन्नों में याद किया जाता है। चित्तौड़गढ़ में एक पहाड़ी पर बना एक विशाल किला है, जो लगभग 700 एकड़ के क्षेत्र में फैला हुआ है। इस चित्तौड़गढ़ के किले के लिए यह पुरे भारत में मशहूर है।

जयपुर (Jaipur)

जयपुर राजस्थान की राजधानी है। इसको पिंक सिटी (गुलाबी शहर) के नाम से भी जाना जाता है। जयपुर अपने शाही किलों, प्राचीन इमारतों, महलों और आकर्षक होटलों की वजह से दुनियाभर में प्रसिद्ध है। जयपुर में नाहरगढ़ फोर्ट, जल महल, सिटी पैलैस, अंबेर फोर्ट, जयगढ़ का किला और हवा महल प्रमुख पर्यटन स्थल हैं। अपने रंग-बिरंगे रत्नों और आभूषणों के लिए राजस्थान की राजधानी अपने वैभवपूर्ण इतिहास के साथ, जयपुर सबसे बड़ी पर्यटन नगरी बन गया है।

जैसलमेर (Jaisalmer)

पाकिस्तान की सीमा के करीब राजस्थान का जैसलमेर शहर बहुत ही चर्चित पर्यटक स्थल है। यह थार रेगिस्तान में सुनहरे टीलों के कारण बहुत मशहूर है। जैसलमेर अपनी कई मानव निर्मित झीलों, हवेलियों, जैन मंदिरों और पत्थरों के महलों के साथ सजा हुआ है। जैसलमेर शहर राजस्थान का पहला और भारत का तीसरा सबसे बड़ा जिला है। जैसलमेर शहर का इतिहास प्रेमियों को काफी आकर्षित करता है। क्योंकि यहाँ की संस्कृति, एतिहास और भागोलिक दृश्य दुनिया भर से पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है। अगर आप राजस्थान घूमने आये, तो जैसलमेर को अपने सूची में अवश्य शामिल करें।

जोधपुर (Jodhpur)

राजस्थान राज्य का दूसरा सबसे बड़ा शहर जोधपुर एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यहाँ पूरे साल धूप का मौसम की एक एक उज्ज्वल किरणे होने की वजह से जोधपुर को सन सिटी भी कहते हैं। यहाँ घूमने के लिए मेहरानगढ़ किला, खेजड़ला किला, उम्मेद भवन पैलेस, मोती महल, बालसमंद झील, चामुंडा माता मंदिर, मंडोर गार्डन आदि दर्शनीय स्थल है। मेहरानगढ़ किला 120 मीटर ऊंची एक पहाड़ी पर बना हुआ है। और माना जाता है कि यह लगभग 500 साल पुराना है और यह राजस्थान के सबसे बड़े किलों में से एक है। जोधपुर में बड़ी संख्या में नीली इमारतों के होने के कारण शहर को “ब्लू सिटी” भी कहा जाता है।

पुष्कर (Pushkar)

राजस्थान के अजमेर जिले में पवित्र पुष्कर शहर है, जिसको भारत में तीर्थ स्थलों का राजा कहा जाता है। यह शहर पुष्कर झील के किनारे बसा हुआ है। माना जाता है कि यह पुष्कर झील भगवान् शिव के आंसुओं से बनी है। भारत के इसी शहर में ब्रह्मा को समर्पित एक मंदिर है इसलिए यह शहर बहुत प्रसिद्ध है। यहाँ हर साल भारत का सबसे बड़ा ऊँटों के मेले का आयोजन होता है। यहाँ की संस्कृति पर्यटकों को आकर्षित करती है। पुष्कर की गणना पंच तीर्थो में भी की जाती है।

बीकानेर (Bikaner)

भारत में सबसे बड़ा ऊँटो का केन्द्र बीकानेर में है। यहाँ फैले रेत के टीले, जो हमेशा उत्तर पूर्व से दक्षिणी इलाक़े तक नज़र आते हैं। ऊँटों की सवारी कर बालू टिब्बों से जाने में एक अलग ही आनंद आता है। इस शहर को “ऊँटों का देश” भी कहा जाता है। बीकानेर में ऊंटो के त्योहार बहुत धूम-धाम से मनाये जाते है। ये देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते है। यहाँ पर आपको प्राचीन किले और महल भी देखने को मिलेंगे। बीकानेर अपनी वास्तविक कला और संस्कृति के लिए प्रसिद्ध है। इसकी स्थापना महाराजा राव जोधा के पुत्र राव बीकाजी ने सन् 1488 ई. में की थी।

भरतपुर (Bharatpur)

भरतपुर पशु-पक्षियों का एक सूंदर शहर है। यहाँ आपको 370 से अधिक पशु-पक्षियों की प्रजातियाँ देखने को मिलेगी। यहाँ आपको ढेर सारे अनोखे पक्षी देखने को मिलेंगे। यहाँ आपको साँप, कछुए, छिपकली, मछलियां आदि भी देखने को मिलेंगे। भरतपुर का नाम भगवान श्रीराम जी के भाई ’भरत’ के नाम पर रखा गया और दूसरे भाई लक्ष्मण, भरतपुर के राज परिवार के कुलदेवता के रूप में है तथा इनके नाम की राज मुहरें और राज चिन्ह भी यहाँ देखने को मिलते हैं। 18वीं शताब्दी में महाराजा सूरजमल ने भरतपुर शहर का विस्तार कर कई किले, महल व डीग के सुन्दर महल बनवाए।

माउंट आबू (Mount Abu)

राजस्थान का एक मात्र हिल स्टेशन माउंट आबू पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है। अरावली रेंज में एक उच्च पथरीले पठार के ऊपर घने जंगलों से घिरा हुआ एक सूंदर शहर माउंट आबू स्थित है। महाराजाओं के शासन के समय अवकाश बिताने के लिए शाही परिवारों का यह सर्वाधिक पसंदीदा स्थल हुआ करता था। इस हिल स्टेशन में बहुत से झरने, हरे-भरे जंगल और झीले हैं। आप कभी माउंट आबू जाएं, तो नक्की झील, अचलगढ़ किला, टॉड रॉक और गोमुख मंदिर जरूर जाएं।

.