• निफ्टी आज 77.30 अंक घटकर 18,623.75 पर पहुंचा
  • सेंसेक्स आज 261.13 अंक घटकर 62,573.47 पर पहुंचा
  • Exit Poll ने दिल्ली में बीजेपी के लिए बजाई खतरे की घंटी
  • रूस से क्रूड खरीद पर कोई सीख स्वीकार नहीं, जर्मनी के विदेश मंत्री के समक्ष जयशंकर की दो टूक

Jag Khabar

Khabar Har Pal Kee

अंतर्राष्ट्रीय-योग-दिवस

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का महत्व और इतिहास

Significance and History of International Day of Yoga

भारत में 27 सितम्बर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा के दौरान वर्तमान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र दामोदरदास मोदी जी ने अपने भाषण से “अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस” की पहल की, जिसके बाद पहली बार अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून 2015 को मनाया गया। भाषण के दौरान प्रधानमंत्री जी ने कहा कि भारत में योग एक अमूल्य उपहार है। योग शारीरिक, मानसिक और आध्‍यात्मिक अभ्‍यास का समूह है, जो शरीर, मस्तिष्‍क और आत्‍मा को एक साथ लाने का कार्य करता है।

योग का महत्व (Importance of Yoga)

योग हमारे जीवन में सकारात्मकता लाने में बहुत बड़ी भूमिका निभाता है। यदि प्रतिदिन योग किया जाए, तो शारीरिक और मानसिक बीमारियां दूर रहती है और बुद्धि का विकास होता है। बहुत से व्यक्तियों में अपने लाइफस्टाइल से भी अनेक समस्याएं उत्पन्न हो जाती है, योग से यह समस्या भी और बढ़ते तनाव को भी कम किया जा सकता है। साथ ही योग शारीरिक और मानसिक ऊर्जा में वृद्धि भी करता है।

योग की शुरुआत भारत से हुई, लेकिन अब यह पूरे विश्व में किया जाता है। अनेकों लोग योग प्रतिदिन करते है, साथ ही ओरों को भी करने के लिए कहते है। योग शारीरिक और मानसिक अनुशासन का एक संतुलन बनाने में सहायक है। यह आराम से और सहजता के साथ जीवन व्यतीत करने में मदद करता है।

मानवता के लिए योग (Yoga for Humanity)

प्रतिवर्ष अन्तराष्ट्र्रीय योग दिवस के लिए एक नई थीम निश्चित की जाती है। पिछले वर्ष यानि 2021 में “Yoga for Human Well-being and Well-being” अर्थात मानव तंदुरुस्ती और कल्याण के लिए योग थीम रखी गई थी। इस वर्ष यानि 2022 में “Yoga For Humanity” अर्थात मानवता के लिए योग थीम रखी गई है।

2015 से 2022 तक की थीम्स (Themes from 2015 to 2022)

2015 : Yoga for Harmony and Peace (सद्भाव और शांति के लिए योग)
2016 : Yoga for the achievement of the Sustainable Development Goals (सतत विकास लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए योग)
2017 : Yoga for Health (स्वास्थ्य के लिए योग)
2018 : Yoga for Peace (शांति के लिए योग)
2019 : Yoga for Heart (दिल के लिए योग)
2020 : Yoga at Home and Yoga with Family (घर पर योग और परिवार के साथ योग)
2021 : Yoga for Human Well-being and Well-being (मानव तंदुरुस्ती और कल्याण के लिए योग)
2022 : Yoga for Humanity (मानवता के लिए योग)

“मानवता के लिए योग” यह थीम मानवता के लिए एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। योग दिवस हमें संदेश देता है कि हमें योग को अपने जीवन में अनिवार्यतापूर्ण प्रतिबद्ध करने की जरुरत है।

क्यों मनाया जाता है 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस

21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस इसलिए मनाया जाता है क्योंकि 21 जून को ही उत्तरी गोलार्द्ध का सबसे लंबा दिन होता है। इस दिन को लोग ग्रीष्म संक्रांति भी कहते है। कहा जाता है कि ग्रीष्म संक्रांति के पश्चात सूर्य दक्षिणायन हो जाता है। मान्यता है कि सूर्य दक्षिणायन का दौरान आध्यात्मिक सिद्धियां प्राप्त करना उचित होता है।

.

Continue in...