Jag Khabar

Khabar Har Pal Kee

थॉमस-कप

बैडमिंटन में भारत ने जीता पहली बार थॉमस कप

India Won Thomas Cup for the first Time in Badminton

15 मई के दिन बैंकॉक (Bangkok) में खेले गए बैडमिंटन के फाइनल में भारतीय टीम ने इंडोनेशिया (Indonesia) को हराकर थॉमस कप (Thomas Cup) अपने नाम कर लिया है। बैडमिंटन के क्षेत्र में 70 वर्षो के इतिहास (History) में पहली बार कोई भारतीय टीम इस मुकाम पर पहुंची है, इसलिए यह जीत इतिहास के पन्नों में दर्ज हो चुकी है। बैडमिंटन में थॉमस कप को विश्व कप भी कहा जाता है। भारत ने इंडोनेशिया को 3-0 की बढ़त से हराकर यह खिताब अपने नाम किया है।

थॉमस कप सबसे अधिक इंडोनेशिया ने जीता है, इंडोनेशिया 14 बार यह कप अपने नाम कर चुका है, परन्तु अब भारत की बैडमिंटन की टीम के इन जाबाज़ खिलाड़ियों लक्ष्य सेन, श्रीकांत किदाम्बी, सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी ने अपनी मेहनत से यह कप अपने नाम कर लिया है।

इससे पहले वर्ष 1979 बैडमिंटन के भारतीय कप्तान प्रकाश पादुकोण को सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा था। तब यह टीम मलेशिया को हराकर सेमीफाइनल में आई थी।

इस मौके पर बैडमिंटन के दिग्गज प्रकाश पादुकोण (Prakash Padukone) और पुल्लेला गोपीचंद (Pullela Gopichan) ने इन खिलाड़ियों को सराहना देते हुए कहा कि यह मैच इन्होंने किस्मत से नहीं, बल्कि अपनी मेहनत के दम पर जीता है। यह दिन भारत के लिए ऐतिहासिक दिन है।

.